• tribalvoice99

कोरोना महामारी का अंत कब होगा

Updated: May 18, 2020

देखा जाते तो किसी भी महामारी का अंत दो प्रकार से ही संभव है चिकित्सा प्रक्रिया- अगर मेडिकल विज्ञान के माध्यम से किसी बीमारी का इलाज ढूंढ लिया जाता है जिससे बीमारी और मृत्युदर में गिरावट आती है समाजशास्त्रीय प्रक्रिया: बीमारी को सामाजिक रूप से स्वीकार कर लिया जाता है आजकल जब लोग पूछते है की कोरोना महामारी कब ख़त्म होगी तो उसका मतलब यही होता है की ये लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंस वाले कांसेप्ट कब तक ख़त्म हो जायेंगे.

ये सामाजिक डर कब तक ख़त्म हो जायेगा - जब लोग कोरोना बीमारी के साथ जीना सीख जायेंगे तो इसे एक तरह से ख़त्म माना जा सकता है।

सरकार संकेत दे रही है की लोगो को कोरोना बीमारी के साथ ही जीना पड़ेगा। लगभग सभी देशो की सरकारें लॉकडाउन हटाने की बात कर रही है ताकि अर्थव्यवस्था को संभाला जा सके। इसके पीछे कोई चिकित्सा और सार्वजनिक स्वास्थ्य डेटा का आधार नहीं है बल्कि एक समाजशास्त्रीय प्रक्रिया है जिसमे बीमारी का इलाज नहीं ढूंढ पाने पर लोगो को बिमारी के साथ जीना होता है

अगर कोरोना का डेटा देखे तो आप समझ सकते हो को ये लॉक डाउन ख़त्म करने का समय नहीं है लेकिन बिगड़ती अर्थवयवस्था को बचाना भी बड़ा चैलेंज बनके उभर रहा है यूरोप में, इटली और स्पेन जैसे देश लॉकडाउन प्रतिबंधों को उठाने लगे हैं। स्पेन की अर्थव्यवस्था के कुछ गैर-जरूरी हिस्से फिर से खुल रहे हैं, जैसे विनिर्माण और निर्माण क्षेत्र के कर्मचारी काम पर लौट रहे हैं हालाँकि बार, रेस्तरां और होटल अभी कुछ और समय के लिए प्रतिबंधित रहेंगे निति आयोग के अध्यक्ष अमिताभकांत ने कहा है की लोगो को अब स्थानीयकरण पे ज्यादा जोर देना पड़ेगा और सप्लाई चैन को पूरी तरह से स्टार्ट करना होगा।सोशल डिस्टेंस और मास्क अब लोगो के फैशन सिंबल बने तो ज्यादा बेहतर होगा।वैक्सीन अभी दूर है और हमें अब इसी के साथ जीना सीखना होगा ये भी एक अनुमान लगाया जा रहा है की एक बार लॉकडाउन उठा लेने के बाद कोरोना संक्रमण का दूसरा दौर आ सकता है जो हेल्थकेयर सिस्टम को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है लेकिन हार्वर्ड वैज्ञानिकों को लगता है कि 2022 तक दुनिया को कोरोना बीमारी के साथ जीना पड़ सकता है

42 views0 comments